33.7 C
Mumbai
Monday, September 21, 2020

कोरोनोवायरस के लिए जर्मन आगंतुक परीक्षण सकारात्मक होने के बाद पूर्वी केप लॉज बंद हो गया

Crawford Beach Lodge in the Eastern Cape shut its doors after a German tourist, who had visited the premises, tested positive for the coronavirus. The lodge's owner, Mark Crawford, said he had no idea the tourist had done precautionary tests for the coronavi…
More

    Latest Posts

    बिहार में सरकारी नौकरी, फिशरीज का कोर्स करने वाले सीधी बहाली के जरिये बनेंगे अधिकारी

    बिहार में इंडस्ट्रियल फिश एंड फिशरीज की पढ़ाई करने वाले छात्रों को सीधे अफसर (मत्स्य विकास पदाधिकारी) बनने का मौका मिलेगा। इससे न...

    PM किसान सम्मान निधि योजना में 110 करोड़ का घोटाला, 18 लोगों को किया गया अरेस्ट

    केंद्र सरकार के किसान सम्मान निधि योजना में एक बड़ा घोटाल सामने आया है. सरकार के इस स्कीम का लाभ कुछ ऐसे...

    खो गया है आपका पैन कार्ड? अब दोबारा कैसे पाएंगे और कितनी जेब ढीली करनी होगी, जानिए

    अक्सर PAN Card खो जाने पर लोग परेशान हो जाते हैं. आइए जानते हैं दोबारा पैन कार्ड प्राप्त करने के लिए क्या...

    बिहार चुनाव 2020: नीतीश कुमार के लिए युवा वोटर क्यों हैं बड़ी चुनौती

    बिहार के चुनावी मैदान में खलबली है. चुनावी महाबली अपने शुरूआती दांव आजमाने लगे हैं. एक दूसरे की ताकत को भांपा और...

    कोरोना से IRCTC के शेयर को झटका, एक महीने में निवेशकों की रकम आधी

    आईआरसीटीसी के शेयरों की तेजी पर ब्रेक लग गई है. अब इसके शेयर ने यूटर्न लिया है. गुरुवार को इसके शेयरों पर 5 फीसदी का लोअर सर्किट लगाया गया. एक महीने के भीतर इसमें निवेश करने वालों की रकम आधी हो गई है. असल में कोरोना के प्रकोप की वजह से लोगों ने यात्राएं काफी कम कर दी हैं और इसकी वजह से रोज दर्जनों की संख्या में ट्रेनों को कैंसिल किया जा रहा है.

    • करीब एक महीने पहले सर्वकालिक ऊंचाई पर थे IRCTC के शेयर
    • इसके बाद से इसकी चाल सुस्त पड़ी और इसने यूटर्न ले लिया
    • एक महीने पहले की तुलना में इसमें करीब 50 फीसदी की गिरावट आ चुकी है
    • कोरोना की वजह से बड़ी संख्या में ट्रेन और टिकट हो रहे कैंसिल

    शेयर बाजार में लिस्टिंग के बाद IRCTC के शेयर की कीमत बुलेट ट्रेन जैसी गति से बढ़ रही थी, लेकिन पिछले करीब एक महीने से इस पर ब्रेक लग गई है. अब इसके शेयर ने यूटर्न लिया है. गुरुवार को इसके शेयरों पर 5 फीसदी का लोअर सर्किट लगाया गया. एक महीने के भीतर इसमें निवेश करने वालों की रकम आधी हो गई है.

    क्यों आई गिरावट

    यानी अगर एक महीने पहले आईआरसीटीसी में किसी के एक लाख रुपये लगे हुए थे तो अब वह घटकर 50 हजार रुपये रह गए हैं. ऐसा माना जा रहा है कि कोरोना के असर से यह सब हुआ है. असल में कोरोना के प्रकोप की वजह से लोगों ने यात्राएं काफी कम कर दी हैं और इसकी वजह से रोज दर्जनों की संख्या में ट्रेनों को कैंसिल किया जा रहा है.

    ट्रेन टिकट खूब हो रहे कैंसिल

    गुरुवार को IRCTC के शेयर 5 फीसदी गिरकर 1,000 रुपये कीमत पर पहुंच गए, जबकि बुधवार को बीएसई पर यह 1052 रुपये पर बंद हुए थे. आईआरसीटीसी के शेयर 25 फरवरी, 2020 को 1995 रुपये के आॅल टाइम हाई पर पहुंच गए थे और तबसे इनकी कीमत में 50 फीसदी तक की गिरावट आ चुकी है.

    इसका मतलब यह है कि अगर 25 फरवरी को किसी ने आईआरसीटीसी में एक लाख रुपये लगाए होंगे तो उसका निवेश अब घटकर महज 50 हजार रुपये के आसपास रह गया होगा. मार्च महीने में कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से करीब 63 फीसदी ट्रेन टिकट कैंसिल कराये गए हैं.

    फरवरी में आईआरसीटीसी का बाजार पूंजीकरण 31,200 करोड़ रुपये के शीर्ष स्तर पर पहुंच गया था जो अब घटकर करीब 16 हजार करोड़ के आसपास ही रह गया है. पिछले चार दिन में ही आईआरसीटीसी के शेयर कीमत में करीब 19 फीसदी की गिरावट आई है. गुरुवार को आईआरसीटी का शेयर कारोबार 5 फीसदी की गिरावट के साथ 1,000.35 रुपये पर खुला.

    मिला था 511 फीसदी का रिटर्न

    कंपनी के शेयर पिछले साल 14 अक्टूबर को बीएसई पर 644 रुपये पर लिस्ट हुए थे और काफी तेजी से बढ़ते हुए 25 फरवरी को यह 203 फीसदी तक बढ़ गए. इसके आईपीओ की निर्धारित कीमत तो महज 320 रुपये थी, यानी आईपीओ के मुकाबले इस शेयर ने 511 फीसदी का रिटर्न दिया.